कंप्यूटर की पीढ़ियाँ, Generations of Computer in Hindi

आधुनिक कम्प्यूटरों के इतिहास को तकनीकी विकास के अनुसार कई भागों में बाँटा जाता है, जिसे कंप्यूटर की पीढ़ियाँ कहा जाता है। सन्  1946 में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस एनिएक की शुरूआत ने कंप्यूटर के विकास को एक आधार प्रदान किया है। कंप्यूटर के डिवाइस के विकास ने कई यात्राएँ की है जिसे कंप्यूटर की पीढ़ियों के आधार पर व्यक्त करते है। कंप्यूटर को पाँच पीढ़ियों में बाँटा गया है।

कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी | First Generation of Computer – (1946-1956)

कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी की शुरुआत सन् 1946 में ENIAC (Electronic Numerical Integrator And Computer) नामक कंप्यूटर के निर्माण से हुआ था। ENIAC का आविष्कार जे.पी. एकर्ट और जॉन मौचली के द्वारा किया गया था। प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटरों में वैक्यूम ट्यूब का इस्तेमाल किया जाता था जिसका आविष्कार सन् 1904 John Ambrose Fleming द्वारा किया गया था। प्रथम पीढ़ी के कम्प्यूटर में Storage Device के रूप में मैग्नेटिक ड्रम का इस्तेमाल किया जाता था. यह कम्प्यूटर बैच ऑपरेटिंग सिस्टम के आधार पर कार्य करता था जिसकी गति मिली सेकंड थी.
भाषा – मशीनी भाषा (0,1)
विशेषताएं – 

  • सिमित मुख्य स्टोरेज क्षमता
  • मंद गति से इनपुट आउटपुट 

उपयोग – मुख्यतः वैज्ञानिक और सामान्य व्यापार सिस्टम जैसे – ENIAC, UNIVAC MARK-1 आदि.

Advertisements

कंप्यूटर की द्वितीय पीढ़ी | Second Generation of Computer – (1956-1963)

कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी के बाद सन् 1956 में कंप्यूटर के द्वितीय पीढ़ी का शुरुआत हुआ। इस पीढ़ी के कम्प्यूटर में स्विचिंग डिवाइस के रूप में ट्रांजिस्टर का प्रयोग किया जाता था. जो की सेमीकंडक्टर से बना होता था. इस पीढ़ी के कम्प्यूटर में Storage Device के रूप में मैग्नेटिक कोर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता था. इन पीढ़ी के कम्प्यूटरों की गति मिली सेकंड से बढ़कर माइक्रो सेकंड हो गयी थी. Multi Tasking & Time Sharing ऑपरेटिंग सिस्टम के आधार पर कार्य करता था. 

भाषा – असेम्ब्ली भाषा, उच्च स्तरीय भाषा
विशेषताएं – 

  • ट्रान्जिस्टर का उपयोग आरम्भ
  • आकार और ताप में कमी
  • तीव्र और विश्वनीय

उपयोग – व्यापक व्यावसायिक प्रयोग, इंजीनियरिंग डिज़ाइन, इन्वेंटरी फाइल का Update.

Advertisements

कंप्यूटर की तृतीय पीढ़ी | Third Generation of Computer – (1964-1971)

कंप्यूटर की तृतीय पीढ़ी की शुरुआत सन् 1964 में हुई। कंप्यूटर की द्वितीय पीढ़ी के बाद सन् 1964 में कंप्यूटर के तृतीय पीढ़ी का शुरुआत हुआ। इस पीढ़ी के कम्प्यूटर में स्विचिंग डिवाइस के रूप में सिलिकॉन से बने इंटग्रेटेड सर्किट (IC) का इस्तेमाल किये जाने लगा. तृतीय पीढ़ी के कम्प्यूटर में Storage Device के रूप में मैग्नेटिक कोर का इस्तेमाल किया जाता था. इन पीढ़ी के कम्प्यूटरों की गति माइक्रो सेकंड से बढ़कर नैनो सेकंड हो गयी थी. Real Time & Time Sharing ऑपरेटिंग सिस्टम के आधार पर कार्य करता था. 

भाषा – फॉरट्रान, कोबोल
विशेषताएं – 

  • मैग्नेटिक कोर और सॉलिड स्टेट का मुख्य स्टोरेज के रूप में उपयोग
  • रिमोट प्रोसेसिंग
  • इनपुट-आउटपुट को नियंत्रित करने के लिए सॉफ्टवेयर का प्रयोग

उपयोग – Database Management System, Online System, Reservation System (IBM System/360, NCR 395, B6500) etc.

Advertisements

कंप्यूटर की चतुर्थ पीढ़ी | Fourth Generation of Computer – (1971 से अब तक)

कंप्यूटर की चतुर्थ पीढ़ी की शुरुआत सन् 1971 से हुई। इस पीढ़ी के कम्प्यूटर का इस्तेमाल वर्तमान में भी किया जा रहा है. इस पीढ़ी के कम्प्यूटर में स्विचिंग डिवाइस के रूप में बड़े पैमाने पर इंटग्रेटेड सर्किट/ माइक्रो प्रोसेसर्स का इस्तेमाल किये जाने लगा है. चतुर्थ पीढ़ी के कम्प्यूटर में Storage Device के रूप में सेमीकंडक्टर मेमोरी, विंचेस्टर डिस्क का इस्तेमाल किये जाने लगा है. इन पीढ़ी के कम्प्यूटरों की गति नैनो सेकंड से बढ़कर पिको सेकंड हो गयी है. Time Sharing Network ऑपरेटिंग सिस्टम के आधार पर कार्य करता है. 

भाषा – फोरट्रॉन 77, पास्कल , ADA, कोबोल-74
विशेषताएं – 

  • मिनी कम्प्यूटर के उपयोग में वृद्धि
  • अनेक प्रकार के हार्डवेयर निर्माता के यंत्रो के बीच एक अनुकूलता जिससे उपभोक्ता किसी एक विक्रेता से बंधा न रहे

उपयोग – इलेक्ट्रॉनिक फण्ड ट्रांसफर, व्यावसायिक उत्पादन और व्यक्तिगत उपयोग जैसे – IBM, PC-XT, Apple-II, Intel 4004 Chip.

Advertisements

कंप्यूटर की पंचम पीढ़ी | Fifth Generation of Computer – (1985 से अब तक)

कंप्यूटर के पंचम पीढ़ी की शुरुआत 1985 से हुई। इस पीढ़ी के कम्प्यूटर का इस्तेमाल वर्तमान में भी किया जा रहा है. इस पीढ़ी के कम्प्यूटर में स्विचिंग डिवाइस के रूप में सबसे बड़े पैमाने पर इंटग्रेटेड सर्किट/ माइक्रो प्रोसेसर्स का इस्तेमाल किया जाता है. पंचम पीढ़ी के कम्प्यूटर में Storage Device के रूप में Optical Disc का इस्तेमाल किया जाता है. इन पीढ़ी के कम्प्यूटरों की गति भी नैनो सेकंड से बढ़कर पिको सेकंड हो गयी है. Knowledge Information Operating System के आधार पर कार्य करता है
भाषा – इनफार्मेशन मैनेजमेंट नैचरल लैंग्वेजविशेषताएं – 

  • प्रोसेसिंग स्पीच कैरेक्टर
  • इमेज रेकाग्निशन

उपयोग – आर्टिफीसियल इंटेलीजेन्स (AI) जैसे – रोबोटिक्स।

Advertisements

%d bloggers like this: